चन्द्र चौथे भाव में

Click here to read in english

काल पुरुष की कुंडली में चौथा भाव चन्द्र का घर होता है ! चौथे भाव में चन्द्र के विशेष शुभ फल प्राप्त होते है ! जातक को माँ की संपत्ति प्राप्त होती है, जातक का पिता से ज्यादा माँ के साथ लगाव होता है ! जातक अपने परिश्रम से धन अर्जित करता है ! चौथे भाव में चन्द्र, जातक को एक बड़ा हवादार निवास स्थान देता है ! जातक की आजीविका विवाह से पहले अस्थिर रहती है परन्तु विवाह के उपरान्त जातक का भाग्योदय होता है !

नोट :- उपरोक्त लिखे गए सभी फल वैदिक ज्योतिष और शास्त्रों के आधार पर लिखे गए है ! सभी बारह लग्नो के आधार और अन्य ग्रहों की स्थति के आधार पर फल बदल सकते है !

लेखक ज्योतिषी सुनील कुमार

Next चन्द्र पाचवे भाव में 

Previous चन्द्र तीसरे भाव में

 

 

 

It's only fair to share...Share on FacebookShare on Google+Tweet about this on TwitterShare on LinkedInPrint this pageEmail this to someone