वैदिक ज्योतिष

हर कोई जानता है कि वैदिक ज्योतिष में 12 रशिया, 12 भाव और नौ ग्रहों शामिल होते है। लेकिन मैं ज्योतिष विज्ञानं की कार्य प्रणाली के बारे में बात करना चाहूंगा। आइए हम यह जानने की कोशिश करें कि वेदिक ज्योतिष कैसे काम करता है और इस विज्ञान के साथ लाखों इंसान कैसे जुड़े हैं। मेरे विचार के अनुसार वैदिक ज्योतिष एक ऐसी प्रणाली है जो इस पृथ्वी पर हर एक व्यक्ति के पिछले जीवन के कर्मों के अनुसार दंड और पुरस्कार देती है। यदि आप अपने पिछले जीवन में अच्छे कर्म करते हैं, तो आपको अपने वर्तमान जीवन में ग्रहों के द्वारा अच्छे फल प्राप्त होते है और यदि आपने अपने पिछले जीवन में बुरे कर्म किये है, तो ग्रहों द्वारा आपके कर्मों के लिए वर्तमान जीवन में आपको बुरे फल प्राप्त होंगे | जीवन में यही कारण है कि लाखों निर्दोष लोगों को उनके जीवन में संघर्ष और समस्याओं का सामना करना पड़ रहा है क्योंकि वे अपने पिछले जीवन में बुरा कर्म करते थे। लेकिन वैदिक ज्योतिष में वर्तमान जीवन में उनके कर्मों को सुधारने और बेहतर जीवन जीने के लिए एक रास्ता मौजूद है। जब एक जातक इस धरती पर जन्म लेता है, तो ग्रहों की व्यवस्था पिछले जन्मों में अपने कर्मों के अनुसार जातक के पूरे जीवन का फैसला करती है। यदि वर्तमान जीवन में जातक अच्छे कर्म करता है तो अपने जीवन से संघर्ष और समस्याओं को कम कर सकता है वैदिक ज्योतिष के सभी नौ ग्रह जातक को सभी तरह के अच्छे व् बुरे फल देने के लिए उत्तरदायी होते है और जन्म के समय से मौत के समय के जीवन तक के हर क्षेत्र में परिणामों का निर्णय करते हैं। उदाहरण के लिए यदि कोई ग्रह आपकी कुंडली में आपको धन देने के लिए नियुक्त किया गया है तो उसे ऐसा करना होगा क्योंकि वह आपके जीवन में ऐसा करने के लिए नियुक्त किया जाता है, इसी प्रकार यदि किसी अन्य ग्रह को अपनी अवधि में आपको रोग देने के लिए नियुक्त किया गया है, तो उसे आपको रोग भी देना पड़ेगा । कभी-कभी ऐसे ग्रह जो जातक के लिए शानदार जीवन देते थे, वही ग्रह जीवन के अंत में एक भयंकर रोग दे देते है या कोई अन्य समस्या दे सकते है । वैदिक ज्योतिष एक ऐसी प्रणाली है, जिसके द्वारा आप जान सकते है आपकी कुंडली में स्थित गृह आपको क्या फल देंगे, आपके पिछले और वर्तमान जीवन के कर्मो के अनुसार क्या फल प्राप्त होंगे | वैदिक ज्योतिष आपको अपने वर्तमान जीवन में अच्छे कर्मों के माध्यम से बुरे कर्मो का पश्चाताप करने मौका देता है। वैदिक ज्योतिष में ग्रहों के उपचार भी कर्म का पश्चाताप करने और बेहतर जीवन जीने का सबसे आसान तरीका है | इस लेख के अंत में मै यही आशा करता हूँ की आप अपने जीवन की समस्याओं का निवारण करने के लिए वैदिक ज्योतिष विज्ञानं का सकारात्मक प्रोयग करेंगे |

धन्यवाद
ज्योतिषी सुनील

Vedic Astrology

It's only fair to share...Share on FacebookShare on Google+Tweet about this on TwitterShare on LinkedInPrint this pageEmail this to someone