Click here to read in english

आठवे भाव में भी चन्द्र बलारिष्ठ का निर्माण करता है परन्तु जातक को यहाँ स्थित चन्द्र द्वारा गंभीर बीमारी का डर होता है ! जातक नेत्र रोगी और घमंडी किस्म का होता सकता है ! यदि आठवे भाव में चन्द्र हो तो जातक का पानी में डूबने का भी खतरा बना रहता है ! ऐसे व्यक्तियों को हमेशा पानी से दूर रहना चाहिए ! आठवे भाव के चन्द्र के प्रभाव से व्यक्ति अत्यधिक कामी और सभी से इर्ष्य करने वाला होता है ! परन्तु वह व्यापर में हमेशा लाभ प्राप्त करता है ! जातक का विवाह एक धनवान घराने में हो सकता है !

नोट :- उपरोक्त लिखे गए सभी फल वैदिक ज्योतिष और शास्त्रों के आधार पर लिखे गए है ! सभी बारह लग्नो के आधार और अन्य ग्रहों की स्थति के आधार पर फल बदल सकते है !

लेखक ज्योतिषी सुनील कुमार

Next चन्द्र नौवे भाव में 

Previous चन्द्र सातवे भाव में