नीलम किसे धारण करना चाहिए ज्योतिष के अनुसार

यदि आपकी कुंडली में शनि की स्थिति सकारात्मक है तो आप अपने जीवन में शनि ग्रह के प्रभाव को बढ़ाने के लिए नीलम रत्न धारण कर सकते हैं। यदि शनि योग कारक है, तुला लग्न की तरह त्रिकोण का स्वामी और केंद्र का स्वामी है, तो आप नीलम धारण कर सकते हैं क्योंकि योग कारक ग्रह आपकी कुंडली के सभी ग्रहों में से सबसे अधिक लाभकारी परिणाम देता है।

यदि शनि आपकी कुण्डली में योग कारक या क्रियात्मक लाभकारी ग्रह है लेकिन शतबल में परिणाम देने के लिए पर्याप्त नहीं है, तो उस स्थिति में आपको नीलम धारण करना चाहिए। कभी-कभी आपकी शनि की महादशा, अंतर्दशा या पतयन्त्र दशा चल रही है और एक सकारात्मक या योग कारक ग्रह होने के बाउजूद शनि आपको अच्छे परिणाम नहीं दे रहा है, ऐसे में आपको अपनी सकारात्मक दशा पूरी होने से पहले नीलम धारण करना होगा। अन्यथा जो दशा आपको लाभ देने आयी वो कुछ भी दिए बिना चली जाएगी।

कभी-कभी एक सकारात्मक ग्रहों की छोटी अवधि (दशा) आपकी दुनिया को बदल सकती है, लेकिन उसे उचित परिणाम देना होगा, परिणाम देने के लिए दशा के स्वामी के पास उचित शक्ति होनी चाहिए, यह सुनिश्चित करने के लिए कि आपके ग्रह की स्थिति परिणाम देने के लिए पर्याप्त मजबूत है तो आप अवश्य ही किसी अनुभवी ज्योतिषी से अपनी कुंडली का विश्लेषण करवाएं।

यदि आप प्रमाणित वास्तविक नीलम, नीलम रत्न उचित मूल्य पर खरीदना चाहते हैं तो कृपया नीचे दिए गए लिंक पर जाएं।

https://aquagems.in/product-category/buy-blue-sapphire-neelam/

लेखक

ज्योतिषी सुनील कुमार

Click here to read in English 

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *