पुखराज रत्न किसे धारण करना चाहिए।

Yellow Sapphire - Pukhraj gemstone effects and results according to Indian vedic astrology. Who should wear and how to wear Yellow Sapphire - Pukhraj Gemstone ?
Yellow Sapphire - Pukhraj gemstone effects and results according to Indian vedic astrology. Who should wear and how to wear Yellow Sapphire - Pukhraj Gemstone ?

जब बृहस्पति आपकी कुंडली में कार्यात्मक लाभकारी ग्रह है और केंद्र या त्रिकोण में अच्छी तरह से स्थित है तो आप बृहस्पति के सकारात्मक प्रभाव को बढ़ाने और लाभकारी परिणाम प्राप्त करने के लिए पुखराज धारण सकते हैं। लेकिन बृहस्पति के लिए केंद्र या त्रिकोण में होना जरूरी नहीं है क्योंकि कभी-कभी कार्यात्मक लाभकारी ग्रह इतने मजबूत नहीं होते हैं कि केंद्र या त्रिकोण के अलावा अन्य स्थान में अपने समय अवधि में परिणाम दे सकें।

ऐसे में ज्योतिषी गृह की स्थिति के अनुसार ग्रह की ताकत बढ़ाने के लिए पुखराज धारण करने का सुझाव दे सकते हैं। जब बृहस्पति जैसा ग्रह छठे, आठवें या बारहवें भाव का स्वामी होता है, तब भी व्यक्ति की वर्तमान आवश्यकता के अनुसार पीला नीलम धारण किया जा सकता है।

उदाहरण के लिए कुंडली का छठा घर नौकरी पेशे का होता है और जब व्यक्ति को नौकरी की आवश्यकता होती है और अच्छी नौकरी नहीं मिल पाती है, तो उस स्थिति में छठे भाव को अपने स्वामी रत्न को धारण करने से मजबूत किया जा सकता है। तो यह कभी नहीं कहा जा सकता कि केवल कार्यात्मक लाभकारी ग्रह रत्न को ही धारण किया जा सकता है। सही कारण के लिए सही रत्न चुनने का सबसे अच्छा तरीका आपको एक अनुभवी ज्योतिषी से परामर्श करने की आवश्यकता है। अन्यथा आप भी पहले, पांचवे और नौवे भाव के रत्नों को धारण करके शुभ परिणामों का इंतज़ार कर सकते है।

लेखक सुनील कुमार

यदि आप प्रमाणित असली पुखराज उचित मूल्य पर खरीदना चाहते हैं, तो नीचे दिए गए लिंक पर क्लिक करें।

https://aquagems.in/product-category/buy-yellow-sapphire-pukhraj/

Click here to read in English