Blog

Welcome To My Blog

केतु सातवे भाव में

Ketu In Seventh House

No Comments

Seventh House (life partner, marriage, business) Ketu in seventh house of horoscope gives some auspicious results in Scorpio and very inauspicious results in other zodiac…

Read More »
केतु छटे भाव में

Ketu In Sixth House

No Comments

Sixth House (enemy and disease house) under the influence of Ketu in this house, the person will be scholarly, happy, generous, determined, having good qualities,…

Read More »
केतु पांचवे भाव में

Ketu In Fifth House

No Comments

Fifth House (child and education house) Ketu in fifth house of horoscope makes the person with conspiratorial thoughts, such a person has dirty thoughts and…

Read More »

Ketu In Fourth House

No Comments

When ketu placed in forth house it gives more inauspicious results in which the person does not feel inclined to work,Playful and verbal tendencies make…

Read More »
केतु बारहवे भाव में

केतु कुंडली के बारहवे भाव में

No Comments

द्वादश (व्यय भाव)इस भाव में केतू के मिले-जुले फल प्राप्त होते हैं जिसमें जातक चंचल परन्तु चतुर बुद्धि, धूर्त प्रवृत्ति, जनता को भूत-प्रेत या अलौकिक…

Read More »
केतु दसवे भाव में

केतु कुंडली के दशम भाव में

No Comments

दशम (पिता व कर्म भाव)इस भाव में केतू के प्रभाव से जातक भाग्यहीन, अपने पिता का विरोधी व द्वेष रखने वाला तथा व्यर्थ के कार्यों…

Read More »
केतु नौवे भाव में

केतु कुंडली के नवम भाव में

No Comments

नवम (धर्म व भाग्य भाव)इस भाव में केतू होने से जातक सुख प्राप्ति का तो इच्छुक होता है परन्तु वह धर्म में कम रुचि रखता…

Read More »
केतु आठवे भाव में

केतु अष्टम के सप्तम भाव में

No Comments

अष्टम (मारक भाव)यहां पर केतू के प्रभाव से जातक पापबुद्धि, चालाक, विपरीत लिंग से द्वेष रखने वाला तथा नीच लोगों में प्रसन्‍नता अनुभव करने वाला…

Read More »
केतु सातवे भाव में

केतु कुंडली के सप्तम भाव में

No Comments

सप्तम (जीवनसाथी भाव)इस भाव में केतू वृश्चिक राशि में तो थोड़े-बहुतत शुभ फल तथा अन्य राशि में तो बहुत ही अशुभ फल देता है जिसमें…

Read More »
केतु छटे भाव में

केतु कुंडली के छटे भाव में

No Comments

षष्ठम (शत्रु व रोग भाव)इस भाव में केतू के प्रभाव से जातक विद्वान, सुखी, उदार, दृढ़ निश्चयी, अच्छे गुण वाला, शत्रु हीन, वातरोगी परन्तु भूत-प्रेत…

Read More »
केतु पांचवे भाव में

केतु कुंडली के पंचम भाव में

No Comments

पंचम (संतान व विद्या भाव)इस भाव में केतू जातक को षड्यंत्रकारी विचारों वाला बनाता है, ऐसे जातक के गन्दे विचार व दुष्ट बुद्धि होती है।…

Read More »