काल सर्प दोष

Kaal Sarp Dosh Effects In Horoscope & Kundli

कुंडली में सात गृह सूर्य, चन्द्र, मंगल, बुध, गुरु, शुक्र और शनि जब राहू और केतु के बीच स्थित होते है तो कुंडली में कालसर्प दोष का निर्माण होता है! मान लो यदि कुंडली के पहले घर में राहू स्थित है और सातवे घर में केतु तो बाकी के सभी गृह पहले से सातवे अथवा … Read more

मांगलिक दोष

जब किसी जातक की कुंडली में मंगल के दुश प्रभावों के कारण जातक के विवाहित जीवन पर बुरा असर पड़ने लगता है तो उसे हम मांगलिक दोष के नाम से जानते है ! और जब मंगल किसी जातक की कुंडली के पहले, दुसरे, चौथे, सातवे, आठवे तथा बारहवें भाव में बैठा हो मंगल दोष बनता … Read more

कुंडली मिलान

विवाह करना हमारे जीवन का अत्यधिक महत्वपूर्ण फैसला होता है ! और एक सुखी ववाहिक जीवन के लिए एक अच्छे जीवन साथी का मिलना अतिआवश्यक होता है ! क्या थोडा सा समय बिताकर हम किसी के साथ पूर्ण जीवन व्यतीत करने का फैसला कर सकते है ? यदि नहीं तो क्या कोई ऐसा तरीका है … Read more