सूर्य सातवे भाव में

Sun results in seventh house of horoscope kundli

सूर्य सप्तम भाव में वैवाहिक जीवन के लिए कष्टकारी होता है। सूर्य यहाँ पर वैवाहिक जीवन में समस्याएं उत्त्पन्न करता है, पति व् पत्नी में हमेशा मतभेद रहते है और सामन्यता इसका कारण पति अथवा पत्नी का अहंकार होता है। सूर्य एक अहंकारी गृह होता है और यदि यह सप्तम स्थान में हो तो पति … Read more

सूर्य छटे भाव में भाव में

SUN IN SIXTH HOUSE OF HOROSCOPE

सूर्य छटे भाव में व्यक्ति को शत्रुओं पर विजय प्राप्त करने वाला बनाता है। कुंडली का छठा भाव शत्रु, ऋण, बीमारी एवं नौकरी से सम्बंधित होता है। यदि सूर्य छटे भाव में शुभ अवस्था में हो तो जातक के शत्रु उसके सामने टिकते नहीं। परन्तु इनके शत्रु भहुत अधिक होते है। जातक का स्वास्थ्य अच्छा … Read more

सूर्य पाचवे भाव में

SUN IN FIFTH HOUSE OF HOROSCOPE

सूर्य पंचम भाव में जातक को अल्प सन्तत्तिवान अथवा संतानहीन बना सकता है। विशेषकर यदि स्त्री कुंडली में हो तो गर्भपात अवश्य देता है। सूर्य कुंडली का पंचम भाव संतान, स्वास्थ्य एवं शिक्षा का भाव होता है। सूर्य एक विभाजक या विभाजन करने वाला गृह होता है , यह जिस भाव में बैठता है उस … Read more

सूर्य चौथे भाव में

SUN IN FOURTH HOUSE OF HOROSCOPE

सूर्य चतुर्थ भाव में अधिकतर अशुभ फल प्रदान करता है। जातक सुन्दर और हृदय से कठोर होता है।सूर्य चतुर्थ भाव में जातक को वाहन सुख से हीन करता है और जातक को हमेशा धन की समस्या बानी रहती है।सूर्य चौथे भाव में जातक को अहंकारी बनाता है जिस कारण जातक हमेशा अपने भाइयों से विरोध … Read more

सूर्य तीसरे भाव में

SUN IN THIRD HOUSE OF HOROSCOPE

सूर्य तीसरे भाव में व्यक्ति बहुत पराकर्मी बनता है। व्यक्ति को राज्य में सम्मान प्राप्त होता है और व्यक्ति कवि हो सकता है, प्रतापशाली, समाज में सम्मान पाने वाला होता है। सूर्य तीसरे भाव में जातक को बन्धुविहीन करता है, विशेषकर छोटे भाई या तो होते नहीं हैं, अगर होते हैं तो विरोध रहता है … Read more