मीन राशि पर साढ़ेसाती अप्रैल 2022

प्रिय दोस्तों जैसा की आप जानते होंगे की 29 अप्रैल 2022 से मीन राशि पर साढ़ेसाती का प्रथम चरण आरम्भ होगा। क्योकि इस दिन शनि अपनी मौजूदा राशि मकर को छोड़कर कुम्भ राशि में प्रवेश करेंगे जो की मीन राशि से पहले आने वाली राशि अथवा मीन से द्वादश भाव की राशि है।आज के इस […]

शनि नौवे भाव में

नवम भाव [ भाग्य स्थान ] शनि यदि कुंडली के नौवे भाव में स्थित हो तो जातक वात रोगी होता है, कमज़ोर शरीर वाला होता है ! ऐसे जातक अधिकतर विदेश में रहते है ! छोटे भाव बहन नहीं होते अथवा उनसे विद्रोह रहता है ! शनि नवम भाव में जातक की विज्ञानं एवं गुप्त […]

शनि बारहवे भाव में

बारहवा भाव (व्यय भाव)- बारहवे भाव के शनि के प्रभाव से जातक अत्यधिक खर्चीले स्वभाव का होता है ! इसलिए अशुभ फल अधिक प्राप्त होते है ! यदि आरम्भ से ही सावधानी रखे तो फिर शुभ फल अधिक प्राप्त होते हैं। उपाय करने से व्यक्ति के आर्थिक रूप से समृध की सम्भावना बनती है क्योंकि […]

शनि ग्यारहवे भाव में

 शनि यदि कुंडली के ग्यारहवे भाव में हो तो जातक धन कमाने में चतुराई रखता है। अपने व्यापार को चलने की लिए रिश्वत भी देता है ! यदि जातक किसी सरकारी विभाग में हो तो रिश्वत अवश्य लेता है, यदि गुरु का प्रभाव लग्न पर हो तो जातक रिश्वत ठुकरा सकता है ! जातक के […]

शनि दसवे भाव में

कुंडली के दसवे भाव में शनि जातक को जन्म स्थान से दूर उन्नति देता है। पैतृक सम्पत्ति मिलना मुश्किल होता है। यदि किसी योग से पैतृक संपत्ति मिल जाये तो किसी न किसी कारण से वह समाप्त हो जाती है। अन्त में जातक स्वयं अपनी ही मेहनत से पुनः सम्पत्ति बना लेता हे। दसवे भाव में […]

शनि आठवे भाव में

शनि यदि अष्टम भाव में पाप प्रभाव में हो तो जातक अत्यन्त कंजूस, दूसरों से बिना बात के झगड़ा व जलन करने वाला, व्यर्थ ही इधर-उधर भटकने वाला होता है। यदि चन्द्र व लग्नेश भी पाप प्रभाव में हों तो जातक पागल तक हो सकता है।ऐसे जातक का अन्तिम समय काफी कष्ट में व्यतीत होता […]